कोरोना से जान गवाने वाले अधिकारियों,कर्मचारियों, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों तथा सहायिकाओं के आश्रितों को एकमुश्त 50 लाख रुपये- anganwadi latest news
                                                          
कोविड-19 से संबंधित ड्यूटी के दौरान संक्रमित होने के कारण अपनी जान गंवाने वाले बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों तथा सहायिकाओं के आश्रितों को एकमुश्त 50 लाख रुपये अनुग्रह राशि दी जाएगी। 



विभाग की निदेशक डॉ. सारिका मोहन ने शुक्रवार को इस संबंध में प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा है कि अभी तक विभाग के 11 अधिकारी व कर्मचारी और 72 आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों तथा सहायिकाओं की कोविड-19 के संक्रमण से मृत्यु हो चुकी है। विभाग के 426 अधिकारी व कर्मचारी तथा 441 आंगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री तथा सहायिकाएं अभी भी कोविड-19 से संक्रमित हैं।


निदेशक ने जिलाधिकारियों से कहा है कि जिन अधिकारियों व कर्मचारियों, आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों और सहायिकाओं की कोविड-19 से संबंधित ड्यूटी के दौरान संक्रमण होने से आकस्मिक मृत्यु हुई है, उनके आश्रितों को शासन के राजस्व विभाग के राजस्व विभाग के शासनादेश के अनुसार एकमुश्त 50 लाख रुपये की अनुग्रह राशि प्रदान की जाए।


निदेशक ने कहा है कि विभाग की आंगनबाड़ी कार्यकत्री, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्री तथा सहायिकाएं कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए गठित निगरानी समिति या सर्वे कार्य के लिए गठित समिति के सक्रिय सदस्य के रूप में जिला प्रशासन के निर्देशन में लगातार फ्रंटलाइन वर्कर के रूप में कार्य कर रही हैं। इसके अलावा विभाग के अधिकारी व कर्मचारी भी कोविड-19 के संक्रमण से बचाव से संबंधित किसी न किसी ड्यूटी का निर्वहन कर रहे हैं। इस कारण विभाग के इन अधिकारियों व कर्मचारियों का प्राथमिकता पर टीकाकरण भी कराया जाए।
और नया पुराने