गेँहू खरीद में अनियमितता व अवैध खनन में दोषी पाए जाने और फतेहपुर जिलाधिकारी कुमार प्रशांत निलंबित, - UP Government Shasanadesh (GO) : शासनादेश उत्तरप्रदेश,Government Order, UPGO
  • Latest Government Order

    गुरुवार, 7 जून 2018

    गेँहू खरीद में अनियमितता व अवैध खनन में दोषी पाए जाने और फतेहपुर जिलाधिकारी कुमार प्रशांत निलंबित,

    लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने जनपद फतेहपुर में गेहूं खरीद में अनियमितताएं पाये जाने पर गंभीर रूख अख्तियार करते हुये जिला अधिकारी फतेहपुर कुमार प्रशांत को तत्काल प्रभाव से निलम्बित करने के निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि वरिष्ठ स्तर पर जिम्मेदारी निर्धारित करना आवश्यक है जिससे की सरकार के महत्वपूर्ण कार्यो को ससमय सुनिश्चित करके पारदर्शिता लायी जा सके।



    यह जानकारी देते हुये सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि 31 मई, 2018 को विशेष सचिव खाद्य, अपर आयुक्त खाद्य द्वारा गेहूं क्रय केन्द्रों पर जांच की गई थी। जांच में पाया गया कि 13 मई के बाद से लेकर अब तक लगभग 18 दिनों में कोई भी खरीद न किये जाने का कोई औचित्य नहीं दर्शाया गया है साथ ही किसानों को टोकन वितरण न करने व गेहूं खरीद को प्रभावित करने में खाद्य आयुक्त द्वारा 06 जून, 2018 को प्रकरण में दोषी पाये अधिकारी व कर्मचारी के विरूद्ध कार्यवाही की गई है।

    क्रय केन्द्र प्रभारी बिसौली मण्डी नरेन्द्र कुुमार को निलम्बित कर फतेहपुर के जिला प्रबन्धक पीसीएफ मोहम्मद रफीक अंसारी को भी निलम्बित किया। इसी प्रकार फतेहपुर मंण्डी के यूपी एग्रो0 संस्था के क्रय प्रभारी प्रेम नारायण को भी निलम्बित किया गया।

    जिला प्रबन्धक यूपी एग्रो गुलाब सिंह को निलम्बित करने की संस्तुति की गई है। विपणन शाखा के क्रय केन्द्रों में दोषी पाये गये विपणन निरीक्षक शक्ति जायसवाल को निलम्बित किया गया। जिला खाद्य विपणन अधिकारी घनश्याम के खिलाफ निलम्बन की कार्यवाही की गई है। साथ ही सम्पूर्ण प्रकरण में एफआईआर भी दर्ज करने का निर्देश दिया गया है।