बुजुर्गों की देखभाल : अब देश के बुजुर्गो की देखभाल को सरकार बदलेगी नीति, राज्य व जिला स्तर पर खोले जा सकते है बड़े वृद्धाश्रम, राज्यों से मांगी राय - shasanadesh - up shasanadesh, up govt, up government, cm of up, up official website, salary, pension
  • Latest Government Order

    सोमवार, 12 फ़रवरी 2018

    बुजुर्गों की देखभाल : अब देश के बुजुर्गो की देखभाल को सरकार बदलेगी नीति, राज्य व जिला स्तर पर खोले जा सकते है बड़े वृद्धाश्रम, राज्यों से मांगी राय

    बुजुर्गों की देखभाल : अब देश के बुजुर्गो की देखभाल को सरकार बदलेगी नीति, राज्य व जिला स्तर पर खोले जा सकते है बड़े वृद्धाश्रम, राज्यों से मांगी राय

    युवाओं के साथ सरकार का बुजरुगों पर भी है। वह इस अवस्था में उनके साथ खड़ी दिखना चाहती है। उनकी सेहत से लेकर उनके खाने-पीने तक की सारी सुविधाओं को लेकर फिक्रमंद है। इसके लिए वह जल्द ही 
    वृद्धजनों के लिए बनाई गई मौजूदा नीति में बदलाव की तैयारी में है। इसके तहत जो बड़े बदलाव सामने आ सकते है, उनमें वृद्धजनों के आश्रमों को अपग्रेड करना और उन्हें मेडिकल सुविधा से लैस करने जैसी योजनाएं शामिल है। प्रत्येक वृद्धाश्रम में डॉक्टरों की तैनाती अनिवार्य हो सकती है। राज्य और जिला स्तर पर एक बड़ा आदर्श वृद्धाश्रम भी खोला जा सकता है।
    सरकार ने वरिष्ठजनों के लिए तैयार होने वाली नई नीति को लेकर सभी राज्यों से राय मांगी है। इनमें राज्यों से पूछा गया है कि वृद्धजनों को अच्छा जीवन देने के लिए और क्या कदम उठाए जा सकते है? साथ ही सभी राज्यों से बुजुर्गो की संख्या और उनकी मौजूदगी का भी ब्योरा मांगा गया है। सरकार का मानना है कि जिस तरीके से तेजी से सामाजिक परिवेश बदल रहा है, उसमें बुजुर्गो को बेहतर जीवन देना एक बड़ी चुनौती है। ऐसे में इसके लिए े से तैयारी करनी होगी। 1सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रलय ने फिलहाल पुरानी नीति राष्ट्रीय वृद्धजन का नाम बदलकर राष्ट्रीय वरिष्ठ नागरिक नीति कर दिया है। नई नीति में जिन विषयों की प्रमुखता रहेगी, उनमें वरिष्ठ नागरिकों से जुड़े मुद्दों को मुख्यधारा में लाना, समावेशी बाधायुक्त तथा वृद्धावस्था अनुकूल वातावरण को सृजित करना, बढती उम्र के साथ होने वाली परेशानियों को चिन्हित करने, स्वास्थ्य की देखभाल, वरिष्ठ नागरिकों को र्दुव्‍यवहार तथा शोषण से संरक्षित करना, आश्रय और वित्तीय स्वतंत्रता आदि शामिल है। अधिकारियों के मुताबिक , इस नीति के तहत उनका सबसे ज्यादा वरिष्ठ नागरिकों के स्वास्थ्य और आश्रय को लेकर है। इसके लिए वह सभी वृद्धाश्रम में डॉक्टरों की तैनाती जैसी नीति पर भी काम कर रहे है। ताकि उनका रुटीन स्वास्थ्य परीक्षण होता रहे और उन्हें जरूरी दवाएं मिलती रहे। मौजूदा समय में देश के ज्यादा वृद्धाश्रम इस सुविधा से वंचित हैं।