15 सितम्बर से लागू हो सकती है आचार संहिता, बिना आयोग की इजाजत के नहीं होंगे ट्रान्सफर,आगामी 2017 के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश में जल्द लागू होगी आचार संहिता,क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर, - UP Government Shasanadesh (GO) : शासनादेश उत्तरप्रदेश,Government Order, UPGO
  • Latest Government Order

    शनिवार, 10 सितंबर 2016

    15 सितम्बर से लागू हो सकती है आचार संहिता, बिना आयोग की इजाजत के नहीं होंगे ट्रान्सफर,आगामी 2017 के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर प्रदेश में जल्द लागू होगी आचार संहिता,क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर,

    15 सितम्बर से लागू हो सकती है आचार संहिता, बिना आयोग की इजाजत के नहीं होंगे ट्रान्सफर, उत्तर प्रदेश के आगामी 2017 के विधानसभा चुनाव के मद्देनजर जल्द ही प्रदेश में आचार संहित लागू हो जाएगी।

    15 सितम्बर से लागू हो सकती है आचार संहिता: उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में कुछ महीनों
    का ही समय शेष बचा हुआ है। ऐसे में बहुत जल्द सूबे में आचार संहिता लागू की जा सकती है। सूत्रों के अनुसार,चुनाव आयोग प्रदेश चुनाव के मद्देनजर 15 सितम्बर से आचार संहिता लागू कर सकता है। इसके साथ ही चुनाव आयोग ने सरकार में बैठे अफसरों को निर्देश देते हुए कहा है कि, बिना आयोग की परमिशन के कोई ट्रान्सफर नहीं किये जाएँ। इसके अतिरिक्त चुनाव आयोग ने उन अफसरों को भी अलग करना शुरू कर दिया है, जो एक ही जगह पर तीन साल या उससे ज्यादा रह चुके हैं। ऐसे अफसरों को ढूंढकर उनका उन जिलों से तबादला किया जायेगा। आयोग के अनुसार, ऐसे अफसर चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित कर सकते हैं।

    बिना आयोग की इजाजत के नहीं होंगे ट्रान्सफर:
    15 सितम्बर से यदि आचार संहिता लागू होती है तो
    सरकार चुनावी प्रक्रिया से जुड़ने वाले विभागों के
    अफसरों का तबादला नहीं कर पायेगी।

    जिनमें प्रशासनिक अफसर, शिक्षा विभाग जैसे विभाग शामिल हैं। चुनाव आयोग इसके साथ ही वोटर लिस्ट का काम पूरा कराने पर भी जोर दे रहा है।
    पुलिस पर भी नए आदेश के घेरे में:
    चुनाव आयोग ने पुलिस विभाग से भी कहा है कि, लम्बे
    समय से एक ही जिले में तैनात अफसर को वहां से ट्रान्सफर किया जाये। साथ ही उस ट्रान्सफर का सर्टिफिकेट भी देना अनिवार्य होगा। यह सर्टिफिकेट जिलों के एसपी, डीआईजी और आईजी देंगे।