पोर्टल पर सभी समस्याएं आएंगी एक साथ: अखिलेश , - UP Government Shasanadesh (GO) : शासनादेश उत्तरप्रदेश,Government Order, UPGO
  • Latest Government Order

    सोमवार, 25 जनवरी 2016

    पोर्टल पर सभी समस्याएं आएंगी एक साथ: अखिलेश ,

    लखनऊ | प्रमुख संवाददाता, मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कहा है कि जनसुनवाई पोर्टल की मदद से छोटी-बड़ी शिकायतों को एक मंच पर आएंगी और शासन को इससे मदद मिलेगी।


    सोमवार को 5, कालीदास मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास पर जनसुनवाई (www.jansunwai.up.nic.in) पोर्टल के उद्घाटन के दौरान उन्होंने कहा कि इससे जनता की समस्याओं का हल जल्दी होगा। मुख्यमंत्री ने पोर्टल के साथ ही मीडियाकर्मियों के लिए हेल्पलाइन (1800-180-303) भी लांच की।


    इसके अलावा सूचना विभाग की पत्रिका उत्तर प्रदेश के "अमृत लाल नागर" विशेषांक, "उत्तर प्रदेश वार्षिकी" व मुख्यमंत्री पर बनी एक कॉफी टेबल बुक "अखिलेश- संघर्ष की यात्रा" का विमोचन भी किया। विभाग के लिए फाइल ट्रैकिंग सिस्टम का भी लोकार्पण हुआ। उन्होंने कहा कि पोर्टल की सफलता तभी है जब इन शिकायतों की मानीटरिंग हो और इनका निस्तारण हो इसीलिए इसका संचालन मुख्यमंत्री कार्यालय से होगा। यहां सीएम, डीएम, एसपी, तहसील दिवस व आनलाइन आई सभी समस्याएं एक साथ दिखेंगी। इस पोर्टल के साथ ही कॉल सेंटर भी बनाया गया है।


    उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के साथ ही मैं मुख्यमंत्री कार्यालय में काल सेंटर बनाना चाह रहा था। फोटोजनर्लिस्ट पवन कुमार की कॉफी टेबल बुक "अखिलेश- संघर्ष की यात्रा" का विमोचन भी श्री यादव ने किया। उन्होंने कहा कि कहते हैं ये फोटो संघर्ष की याद दिलाते हैं। कार्यक्रम को वरिष्ठ
    कवि गोपाल दास नीरज, उदय प्रताप, दो बार माउंट एवरेस्ट फतेह कर चुकी संतोष यादव समेत मुख्य सचिव आलोक रंजन, सूचना विभाग के प्रमुख सचिव नवनीत सहगल ने भी सम्बोधित किया।


    जब कोई कैमरा नहीं था पवन कुमार काफी टेबल बुक की बात करते हुए भावनाओं में बह गए। उन्होंने कहा कि पहले नामांकन से आज तक मैं उनकी फोटो खींचता रहा हूं। मैं मुख्यमंत्री के साथ तब से हूं जब कोई फोटोग्राफर इनके पास नहीं जाता था। हंसी के ठहाकों की आवाज सुनते ही पवन ने बात संभालते हुए कहा कि मैंने तब ही इनकी प्रतिभा को पहचान लिया था। इस पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने
    भी चुटकी ली कि फोटोग्राफर में सूझबूझ होनी चाहिए।

    पवनजी तब से मेरे साथ हैं जब कोई कैमरा मेरे पास नहीं आता था। इन्होंने आज की तैयारी तब से ही शुरू कर दी थी।
    यह है पोर्टल इसमें ई मार्किंग के जरिए शिकायतें, आवेदन, संबंधित अधिकारियों को इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से भेजे जाएंगे। लोग अपनी शिकायतें व आवेदन घर बैठे कर सकेंगे। 20 फरवरी से अन्य राज्य स्तरीय कार्यालयों में आॠनलाइन आवेदन की सुविधा होगी।

     शिकायतकर्ता को एसएमएस के माध्यम से सूचना मिलेगी कि
    उसकी शिकायत की स्थिति क्या है। निस्तारण से यदि वह संतुष्ट नहीं है तो पोर्टल भी इसका सेक्शन भी है।